जानिए उत्तर प्रदेश दरोगा भर्ती के बारे में : पाठ्यक्रम,पिछले वर्ष के प्रश्न पत्र,पैटर्न इत्यादि

 

उत्तर प्रदेश दरोगा परीक्षा

 

नमस्कार दोस्तों
किसी क्षेत्र का दरोगा होना अपने आप में यह कल्पना ही पूरे रक्त संचार में नयी ऊर्जा का सृजन करती है। जब कभी भी दरोगा भर्ती की परीक्षा होती है लाखों की संख्या में अभ्यार्थी इस परीक्षा की तैयारी में जुट जाते है। दरोगा पद एक ऐसा पद है जिसे पाकर एक व्यक्ति किसी क्षेत्र में न्याय व शांति बनाने की जिम्मेवारी लेता है। आपराधिक तत्वों को साफ़ करने की जिम्मेवारी अमन व शांति स्थापित करने का सौभाग्य एक दरोगा के पास होता है।

दोस्तों कई सारे अभ्यार्थियों को इस परीक्षा के बारे में नही पता है और अगर पता है भी तो बहुत अच्छी तरह से नहीं ,दोस्तों अगर आप भी एक दरोगा बनना चाहते है और आपको इस परीक्षा के बारे में नहीं पता है तो आप बिलकुल सही स्थान पे है।आज आपको हम बताने वाले हैं कि किस प्रकार से दरोगा की परीक्षा ली जाती है और आप कैसे इस परीक्षा में सफलता हासिल कर सकते हैं।

परीक्षा की सामान्य जानकारी

दोस्तों यह परीक्षा सम्पूर्ण भारत के अभ्यार्थियों के लिए होती है। इस परीक्षा में भारत का कोई भी अभ्यार्थी भाग ले सकता है। इस परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए अभ्यार्थी की न्यूनतम आयु 21वर्ष तथा अधिकतम आयु 28वर्ष होनी चाहिए हालांकि आरक्षित वर्ग के अभ्यार्थियों के लिए पांच वर्ष तक की छूट दी जाती है।
इस परीक्षा में भाग लेने के लिए अभ्यार्थी का किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक की उपाधि का होना आवश्यक है।

मुख्यतः इस परीक्षा में तीन चरण हैं

  • ऑनलाइन परीक्षा
  • शारीरिक मानक परीक्षण (PST) चरण
  • शारीरिक दक्षता परीक्षण PET

ऑनलाइन परीक्षा

दोस्तों यह परीक्षा 120 मिनट अर्थात दो घंटो का होता है। यह परीक्षा बहुवैकल्पिक प्रकृति का होता है। इस परीक्षा कुल चार विषयों से प्रश्न पुछा जाता है जो कि इस प्रकार है :-

  • सामान्य हिंदी :-दोस्तों इस विषय से कुल 40 प्रश्न पूछे जाते हैं। इस विषय के प्रत्येक प्रश्न का अंकभार 2.5 अंक होता है अर्थात इस विषय से 100 अंक के प्रश्न पूछे जातें है।
  • क़ानून/संविधान और सामान्य ज्ञान-दोस्तों यह विषय दो भागों में बटाँ हुआ है पहला भाग कानून तथा संविधान का है जिससे कि 24 प्रश्न पूछे जाते है तथा दूसरा भाग सामान्य ज्ञान का है जो 16 प्रश्नो का होता है।
  • संख्यात्मक क्षमता-दोस्तों इस विषय से कुल 40 प्रश्न पूछे जाते हैं। इस विषय के प्रत्येक प्रश्न का अंकभार 2.5 अंक होता है अर्थात इस विषय से 100 अंक के प्रश्न पूछे जातें है।
  • रीजनिंग-दोस्तों इस विषय से कुल 40 प्रश्न पूछे जाते हैं। इस विषय के प्रत्येक प्रश्न का अंकभार 2.5 अंक होता है अर्थात इस विषय से 100 अंक के प्रश्न पूछे जातें है।

इस तरह से यह परीक्षा कुल 160 प्रश्नों के साथ 400 अंकों का होता है।दोस्तों इस भर्ती में अगर आपको अगले चरण के लिए जाना है तो प्रत्येक विषय में आपको कम से कम 35 अंक लाना आवश्यक है।

सिलेबस

अगर आपको इस परीक्षा का सिलेबस चाहिए तो कृपया यहाँ क्लिक करें।

शारीरिक मानक परीक्षण (PST) चरण

दोस्तों यह परीक्षा शारीरिक जांच के लिए है। इस परीक्षा में अभ्यार्थी के पास निम्नलिखिति शारीरिक योग्यता होनी चाहिए
अनारक्षित/अन्य पिछड़ा वर्ग/अनुसूचित जाति वर्ग के लिए न्यूनतम उचाई 168cm होनी चाहिए तथा सीने की चौड़ाई 79 से 84 cm होनी चाहिए। साथ ही अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए न्यूनतम उचाई 160cm होनी चाहिए तथा सीने की चौड़ाई 77 से 82cm होनी चाहिए।

महिला अभ्यार्थियों के अनारक्षित/अन्य पिछड़ा वर्ग/अनुसूचित जाति वर्ग के लिए न्यूनतम उचाई 152cm तथा अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए न्यूनतम उचाई 147cm होनी चाहिए।

शारीरिक दक्षता परीक्षण PET

दोस्तों इस परीक्षा में पुरुष अभ्यार्थियों को 28मिनट में 4.8 KM की दौड़ लगानी होती है तथा महिला अभ्यार्थियों को 16 मिनट में 2.4KM की दौड़ लगानी होती है।

पिछले वर्ष के प्रश्नपत्र
दोस्तों किसी भी परीक्षा में पिछले वर्ष के प्रश्नपत्र अति महत्वपूर्ण होते है। ये प्रश्नपत्र हमें अनुमान कराते हैं कि किस प्रकार के प्रश्न पूछे सकते हैं।
01 प्रश्न पत्र  नीचे दिया गया है आप इसे डाउनलोड कर सकतें है।

UP-SI-Exam प्रश्न पत्र

 

परीक्षा के लिए महत्वपूर्ण टिप्स

दोस्तों इस परीक्षा को पास करने वाले एक अभ्यार्थी विवेक कुमार पाठक के बारे में हमने एक लेख लिखा था। इनका कहना है कि अगर आप स्वयं को एक दरोगा के रूप में देखना चाहते हैं तो आपक नोटिफिकेशन का इन्तिज़ार न करें। उनका कहना है कि नोटिफिकेशन तो निकलेगा ही उसके लिए किसी प्रकार की चिंता नहीं करनी है। आप अभी से ही इस परीक्षा के बारे में जानकारी इकठा कर के इस परीक्षा की तैयारी में जुट जाइये।
दोस्तों मॉक टेस्ट किसी भी परीक्षा में आत्मविश्वास को बढ़ाने में मदद करता है अतः आप मॉक टेस्ट अवश्य दे।
दोस्तो अगर आप दरोगा बनना चाहते हैं तो आपको अपनी तैयारी निरन्तर रखनी होगी ऐसा नहीं कि एक दिन 12 घंटे पढ़ के एक सप्ताह तक कुछ पढ़ा ही नहीं। भले ही आप कम ही समय दे परन्तु हर रोज करें इससे आपके सफल होने की सम्भावना कई गुनी बढ़ जाएगी।

***

परीक्षा संभंधित किसी भी प्रकार की समस्या को आप कमेंट कर पूछ सकते हैं।

जानिए कैसे विवेक कुमार पाठक ने उत्तर प्रदेश दरोगा परीक्षा में पाई सफलता

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *